जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम (JSSK) 2022: आवेदन फॉर्म, पात्रता व लाभ


Janani Shishu Suraksha Karykram Online Registration | जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम आवेदन फॉर्म | Janani Shishu Suraksha Karykram Application Status

गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशु को विभिन्न प्रकार के स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए सरकार विभिन्न योजनाओं का संचालन करती है। यह योजनाएं केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित की जाती हैं। हाल ही में भारत सरकार द्वारा जननी सुरक्षा शिशु कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को एवं नवजात शिशु को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। आपको इस लेख के माध्यम से Janani Shishu Suraksha karykram का पूरा ब्यौरा प्राप्त होगा। आप इस लेख को पढ़कर इस योजना के अंतर्गत आवेदन फॉर्म भरने से लेकर पात्रता से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। तो आइए जानते हैं कैसे जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम 2022 का लाभ प्राप्त किया जाए।

Janani Shishu Suraksha Karykram 2022

केंद्र सरकार द्वारा जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम को लांच किया गया है। इस योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशु को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी। इन सेवाओं में निशुल्क प्रसव, निशुल्क जांच, भोजन आदि जैसी सेवाएं शामिल है। इस योजना के अंतर्गत आने वाले लाभार्थियों को प्रसव के दौरान संपूर्ण व्यय एवं नवजात शिशु को 1 माह तक होने वाले किसी भी प्रकार की बीमारी में होने वाले व्यय का वाहन सरकार द्वारा किया जाएगा। क्षेत्रीय उप निर्देशक द्वारा अपने प्रमंडल में जननी सुरक्षा योजना का कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा।

प्रत्येक माह सिविल सर्जन के साथ कार्यक्रम में भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की भी समीक्षा की जाएगी। इसके अलावा अपने क्षेत्र के भ्रमण के दौरान विशेष रूप से जननी सुरक्षा कार्यक्रम में निर्धारित दिशा निर्देश का पालन भी क्षेत्रीय उप निर्देशक द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा।

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का उद्देश्य

इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य प्रसव के समय महिलाओं को विभिन्न प्रकार की निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से नवजात शिशु को भी स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी। इन सेवाओं में निशुल्क प्रसव, दवाएं, जांच, भोजन, रक्त की व्यवस्था, रेफरल सुविधा आदि शामिल है। Janani Shishu Suraksha Karykram 2022 के माध्यम से देश की महिलाओं के जीवन स्तर में सुधार आएगा। अब देश की महिलाओं को प्रसव के समय आर्थिक तंगी का सामना भी नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि भारत सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं के लिए आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी।

Key Highlights Of Janani Shishu Suraksha Karykram 2022

योजना का नाम जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम
किसने आरंभ की भारत सरकार
लाभार्थी भारत के नागरिक
उद्देश्य प्रसव के समय विभिन्न प्रकार की सुविधाएं प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2022

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदान की जाने वाली सेवाएं

गर्भवती महिला के लिए

  • निशुल्क प्रसव
  • निशुल्क सिजेरियन प्रसव
  • निशुल्क दवाएं
  • निशुल्क जांच
  • निशुल्क भोजन
  • निशुल्क रक्त की व्यवस्था
  • निशुल्क रेफरल सुविधा
  • सभी प्रकार के यूजर चार्ज में छूट

30 दिन तक नवजात शिशु को प्रदान की जाने वाली सुविधाएं

  • निशुल्क उपचार
  • निशुल्क दवा
  • निशुल्क जांच
  • मिशन ब्लड की व्यवस्था
  • निशुल्क रेफरल सुविधा
  • सभी प्रकार के यूजर चार्जेस में छूट

जिला सरैया प्रखंड स्तरीय नामक नोडल पाधिकारी का दायित्व

  • इस योजना के नोडल अधिकारी जिला स्तर पर सिविल सर्जन एवं प्रखंड स्तर पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी होंगे।
  • कार्यक्रम के दिशा-निर्देशों से संबंधित जानकारी नोडल अधिकारियों को प्रदान की जाएगी।
  • लोन अधिकारियों द्वारा इस कार्यक्रम का सफल संचालन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • मेडिकल कॉलेजों के माध्यम से भी इस योजना का लाभ लाभार्थियों को उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • नोडल अधिकारियों द्वारा भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की भी समीक्षा की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत ग्रीवेंस रिड्रेसल मेकैनिज्म का गठन किया जाएगा जिसकी प्रतिदिन निगरानी की जाएगी।
  • नोडल अधिकारियों द्वारा इस योजना का प्रचार-प्रसार भी सुनिश्चित किया जाएगा।
  • इस कार्यक्रम की प्रगति राज्य मुख्यालय में उपलब्ध करवाई जाएगी।

उपाधियक्ष/अस्पताल प्रबंधक/प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक का दायित्व

  • अस्पताल एवं स्वास्थ्य केंद्र के माध्यम से जननी सुरक्षा योजना कार्यक्रम का कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • अधिकारियों द्वारा इस योजना के दिशा निर्देशों का पालन किया जाएगा।
  • प्रत्येक सप्ताह इस कार्यक्रम की भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की जाएगी।

प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक/प्रखंड लेखा प्रबंधक का दायित्व

  • प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक या लेख प्रबंधक द्वारा अपने प्रखंड में जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम का कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • इस योजना के प्रचार-प्रसार करने का दायित्व अपने प्रखंड में प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक या लेख प्रबंधक का होगा।
  • इसके अलावा सहियाओ को कार्यक्रम का उन्मुखीकरण करना सुनिश्चित करेंगे।
  • प्रत्येक सप्ताह कार्यक्रम के भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की भी समीक्षा की जाएगी।

योजना के अंतर्गत जिला स्तर पर उपलब्ध कराई गई राशि

रेफरल सुविधा

  • महिला के प्रसव एवं प्रसव उपरांत आने जाने के लिए ₹1000 प्रदान किए जाएंगे।
  • यदि नवजात शिशु गंभीर रूप से बीमार है तो इस स्थिति में उपचार के लिए आने जाने के लिए ₹1000 की राशि प्रदान की जाएगी।

भोजन की व्यवस्था

  • सामान्य प्रसव की स्थिति में गर्भवती माता को 3 दिन तक ₹50 प्रतिदिन भोजन के लिए प्रदान किए जाएंगे।
  • सिजेरियन प्रसव की स्थिति में अधिकतम 7 दिन तक ₹50 प्रतिदिन भोजन के लिए प्रदान किए जाएंगे।

दवा की उपलब्धता

  • सामान्य प्रसव की स्थिति में ₹300 दवा के लिए प्रदान किए जाएंगे एवं सिजेरियन प्रसव की स्थिति में 1600 रुपए दवा के लिए प्रदान किए जाएंगे।
  • नवजात शिशु के उपचार के लिए ₹200 प्रदान किए जाएंगे।

चिकित्सा जांच एवं आवश्यकता अनुसार ब्लड सुविधा की उपलब्धता

  • सामान्य प्रसव की स्थिति में ₹200 एवं सिजेरियन प्रसव की स्थिति में ₹500 जांच के लिए प्रदान किए जाएंगे।
  • ब्लड सुविधा के लिए अधिकतम ₹300 की राशि प्रदान की जाएगी।

जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के लाभ तथा विशेषताएं

  • केंद्र सरकार द्वारा जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम को लांच किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशु को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी।
  • इन सेवाओं में निशुल्क प्रसव, निशुल्क जांच, भोजन आदि जैसी सेवाएं शामिल है।
  • इस योजना के अंतर्गत आने वाले लाभार्थियों को प्रसव के दौरान संपूर्ण व्यय एवं नवजात शिशु को 1 माह तक होने वाले किसी भी प्रकार की बीमारी में होने वाले व्यय का वाहन सरकार द्वारा किया जाएगा।
  • क्षेत्रीय उप निर्देशक द्वारा अपने प्रमंडल में जननी सुरक्षा योजना का कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • प्रत्येक माह सिविल सर्जन के साथ कार्यक्रम में भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की भी समीक्षा की जाएगी।
  • इसके अलावा अपने क्षेत्र के भ्रमण के दौरान विशेष रूप से जननी सुरक्षा कार्यक्रम में निर्धारित दिशा निर्देश का पालन भी क्षेत्रीय उप निर्देशक द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा।

पात्रता तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी आदि।

जननी शिशु सुरक्षा योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र जाना होगा।
  • अब आपको वहां से जननी शिशु सुरक्षा योजना आवेदन फॉर्म की प्राप्ति करनी होगी।
  • इसके पश्चात आपको आवेदन फॉर्म में पूछे गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको आवेदन फॉर्म से सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अटैच करने होंगे।
  • इसके पश्चात आपको यह आवेदन फॉर्म आंगनवाड़ी केंद्र में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप जननी शिशु सुरक्षा योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकेंगे।

Leave a Comment